Plc क्या होती है? इसके काम | प्रकार | फुल फॉर्म | basic programming

What is Plc in Hindi,plc ka full form kya hai

What-is-plc-in-hindi-programming-full-form
What is plc
                   

इस समय मैने देखा कि  internet पर students, plc kya hai, what is plc in hindi ओर इसके साथ ही basic of plc working in hindi, plc programming और plc full form kya hota hai search करते रहते हैं  तो मैंने यह post लिखी। जिससे कि आपको यहां पर पीएलसी की ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिलेगी। मैैंने  यहाँ पर plc की full information  दी है आपको यहां से कहीं और जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी


 यहाँ आप जानेंगें ?
1- introduction of plc
2- plc full form kya hai
3- short history of plc
4- what is plc
5-  PLC कैसे काम करती है?  
6- Plc के प्रकार ?
7- Industries में use होने बाली कुछ plc
8- PLC के hardware parts in hindi
9- plc programming in hindi - 
10-Introduction to Ladder Logic
11-PLC  को इनपुट देने वाली डिवाइस
 11.1- PLc video
12- PLC के output signal उपकरण
13- Scada compare with plc in hindi     
14-What is plc scada in hindi
15-advantages of plc
16- Plc का चयन कैसे करें?
17- Plc proggramming 12 lession
18- industry में plc की भूमिका
19- plc में fault ढूंढना
20- plc की full history
 

1-plc क्या है -Introduction of plc in hindi

Plc में एक programme बनाया गया होता है।  जो हमारी जरूरतों के लिए काम करता है।
कारखाने में उत्पादन के लिए कई प्रक्रियाएं हैं।  मशीनरी और एक के बाद एक प्रक्रिया को नियंत्रित करने के लिए पीएलसी का उपयोग करना आवश्यक है।  आज इसका उपयोग कई उद्योगों और मशीनों में किया जाता है। तापमान नियंत्रण, दबाव नियंत्रण, विद्युत इंटरलॉक के लिए एक programme विकसित किया गया है।  इसे मेमोरी में स्टोर किया जाता है। यह कंप्यूटर पर चलता है।

plc को उद्योगों में स्वचालन की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए विकसित किया गया था।
हार्ड वायरिंग के बजाय, यह एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के तहत काम करता है।
plc से पहले, स्वचालन के लिए बहुत सारे उपकरणों का उपयोग किया गया था।  कई रिले की तरह, टाइमर, sequence controller का उपयोग किया गया था।
लागत अधिक थी, और समय अधिक लगता था।


प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोल plc में मुख्य I / O (इनपुट / आउटपुट) के बारे में है।  कितने DI (डिजिटल इनपुट), और कितने AI (एनालॉग इनपुट)। इस आधार पर, plc का चयन किया जाता है

2- plc का full form क्या होता है?

plc ka full form - plc की full form होती है - programmable logic controller

P-programmable
L-logic
C-controller

3- plc का इतिहास- Short history of plc in hindi

PLC का अविष्कार americi automativ निर्माण उद्योग की जरूरतों के लये क्या गया था। plc शुरू  में automotive उद्योग द्वारा अपनाये गए थे,
PLC को daily routine के navigation, reporting, alarm आदि के उद्देश्य से लोगों के साथ बातचीत करने की ज़रूरत होती है।
इसके लिए एक human machine interface (HMI)  का प्रयोग क्या जाता है। HMIs को MMIs (man machine interface) और GUI (grafical user interface) के नाम से भी जानी जाती है।
इन्हें भी पढ़ें ⤵
पीएलसी की परिभाषा क्या होती है?

एक प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोलर या प्रोग्राम कंट्रोलर एक डिजिटल कंप्यूटर होता है जिसका उपयोग electromechanical process को automatic करने के लिए किया जाता है।  यह फैक्ट्री में मैनुफैक्चरिंग लाइन पर इलेक्ट्रोमैकेनिकल प्रक्रियाओं के स्वचालन में मशीनरी, या प्रकाश स्थिरता आदि के नियंत्रण में किया जा सकता है।

4-What is PLC in hindi , basic of plc hindi

Plc जिसका पूरा नाम (full form) programmable logic controller है। यह industry मे machines के automation के लये उपयोग होती है।यह एक प्रकार का digital computer ही है। इसका प्रयोग करने से time बचता है और कार्य जल्दी होता है


आज के समय में शायद ही कोई ऐसी इंडस्ट्री होगी जहां पर मशीनों में PLC का प्रयोग ना होता हो आजकल हर कंपनी में ऑटोमेशन के लिए PLC का प्रयोग होता है अगर आपको PLC की अच्छी जानकारी है तो आप PLC में आए fault आसानी से troubleshoot कर सकते हैं

और समय रहते उसको सही कर सकते हैं fault आ जाता है तो उस fault बाले भाग को हम आसानी से search कर सकते हैं

 5-  PLC कैसे काम करती है?         

 working of PLC(programmable logic controller) in Hindi

प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोल काम करने के लिए एक programme और एक PLC की आवश्यकता है पीएलसी का  Program ladder भाषा में लिखा जाता  है।  इस प्रोग्राम को कंप्यूटर में लिखा जाता है और केबल के माध्यम से PLC में डाला जाता है। 


PLC में पहले से ही एक मेमोरी होती है जिसमें पूरा प्रोग्राम save करा गया होता है

PLC का उपयोग करना सर्किट को बहुत सरल बनाता है और मशीन की खराबी की संभावना भी बहुत कम होती है।  PLC में बने सर्किट RLC में बने सर्किट की तुलना में काफी विश्वसनीय हैं।  और काम भी सही ढंग से करते हैं

पीएलसी डिवाइस, Electrical Timer, Contactor,NC, no, Counter जैसे उपकरणों के बावजूद PLC का आकार बहुत बड़ा नहीं होता है लेकिन PLC में कि कॉम्पोनेंट्स का आकार बहुत छोटा होता है। जो प्रोग्राम मशीन संचालन को नियंत्रित करते हैं स्थिर memory में save होते है। प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोलर में इनपुट और आउटपुट दो मॉड्यूल मिलते हैं जो सीपीयू से जुड़े हैं। पीएलसी के इनपुट मॉड्यूल , तापमान सेंसर, पुश बटन, limit switches से इनपुट सिग्नल लेता है और एक मोटर या किसी अन्य मशीन के लिए आउटपुट देता है। सीपीयू इनपुट मॉड्यूल से सिग्नल को प्रोसेस करके आउटपुट मॉड्यूल पर आउटपुट लौटाता है। आउटपुट आपको आउटपुट मॉड्यूल से मिलता है। जो 24 v डीसी आउटपुट के रूप में प्राप्त होता है, हम इसे रिले बोर्ड में देते हैं जो 24 v डीसी रिले बोर्ड के साथ लगाया जाएगा जाता है।

cpu-what-is-plc-in-hindi-full-form
CPU

post अच्छी लगे तो please share करे।


6- Plc कितने प्रकार की होती हैं?  -  types of plc in hindi


पीएलसी के दो मुख्य प्रकार होते हैं 

1- compact PLC 
2- modular PLC.

Plc के कुछ अन्य नाम या प्रकार
Large PLCs
Medium- sized PLC
Compact or integrated plc
modular PLC 
Small PLC


 compact plc kya hota hai  

 इसमें I / O मॉड्यूल और बाहरी I / O कार्ड की निश्चित संख्या होती है।  और इसमें मॉड्यूल का विस्तार करने की क्षमता नहीं होती है।  प्रत्येक इनपुट और आउटपुट modules निर्माता company द्वारा तय किया जाएगा।

 modular plc kya hota hai 

 इस प्रकार का पीएलसी "मॉड्यूल" के माध्यम से कई विस्तार की अनुमति देता है, इसलिए इसे modular PLC कहा जाता है।  I / O components को बढ़ाया जा सकता है।  इसका उपयोग करना आसान है क्योंकि प्रत्येक components एक दूसरे से स्वतंत्र है।

 पीएलसी को आउटपुट के आधार पर तीन प्रकारों में विभाजित किया जाता है, जैसे रिले आउटपुट, ट्रांजिस्टर आउटपुट और ट्रायक आउटपुट plc।  रिले आउटपुट प्रकार ac और dc आउटपुट डिवाइस दोनों के लिए सबसे उपयुक्त है।  ट्रांजिस्टर आउटपुट प्रकार की plc स्विचिंग ऑपरेशन का उपयोग करती है और microprocessor के अंदर उपयोग किया जाता है।

भौतिक आकार के अनुसार, एक PLC mini, micro और nano पीएलसी में विभाजित है।

7-Industries में use होने बाली कुछ plc


8-PLC के hardware parts in hindi

1-CPU
2-input terminal
3-output terminal
4-power supply
5-programming device


1-CPU- इसका पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट होता है जिसे की कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है प्रत्येक कंप्यूटर में सीपीयू होता है

इसलिए हम plc को भी एक कंप्यूटर कह सकते हैं plc के अंदर सीपीयू इनपुट signals को प्रोसेस करके और देने के काम आता है तथा plc की सारी प्रोसेसिंग CPU में ही होती है

2-input/output terminal- PLC में इनपुट आउटपुट टर्मिनल्स का यूज सिगनल्स को PLC में लेने तथा सीपीयू द्वारा प्रोसेस करके सिग्नल को बाहर करने के लिए क्या जाता है

3-power supply- जैसा कि मैं आपको पर बता चुका हूं कि plc में 220 पावर सप्लाई तथा 24 voltage DC ऑपरेटिंग पावर सप्लाई का प्रयोग होता है इसलिए PLC में पावर सप्लाई का प्रयोग बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है


4-programming device- plc को एक उपयुक्त programming device के माध्यम से दोबारा program किया जा सकता है:
 programming console
 Hand Programmer


post अच्छी लगे तो please share करे।

9-plc programming in hindi - plc प्रोग्रामिंग

 Programming Languages

 मशीन कोड के रूप मे plc system में load किया गया एक program, program instructions को represent करने के लिए binary code  संख्याओं का एक क्रम।

Assembly के उपयोग पर आधारित Assembly भाषा का उपयोग किया जा सकता है, और एक computer program जिसे assembler कहा जाता है, का उपयोग mnemonics को machine code में अनुवाद करने के लिए किया जाता है।
 उच्च स्तरीय भाषाओं (C, BASIC, आदि) का उपयोग किया जा सकता है।

10-Introduction to Ladder.      Logic - plc programming in hindi


What-is-plc-in-hindi-programming-full-form
Plc programming in hindi

Ladder logic योजनाबद्ध सर्किट आरेखों के समान graphic प्रतीकों का उपयोग करता है।
 Ladder Logic में दो parellale रेखाएँ होती हैं जो विद्युत रेल का representation करती हैं।  इन दो ऊर्ध्वाधरों के बीच सर्किट को horizontal lines के रूप में जोड़ा जाता है।

 Ladder diagram features

  •  Power, left से right जाती है।
  •  Right तरफ आउटपुट सीधे left ओर से नहीं जोड़ा जा सकता है।
  •  प्रत्येक rung में कम से कम एक o/p  होता है।
  •  प्रत्येक o/p  का उपयोग केवल एक बार में किया जा सकता है।

11-PLC  को इनपुट देने वाली डिवाइस

 Switch and push button

 Sensing device

 limit switch

 temperature switch

 level switch

 photoelectric sensor

 Presence detection sensor

 pressure switch

 float switch

 Vacuum switch

 12- PLC के output signal जिसे दिया जाता हे वो उपकरण

 Motor starter

 solenoid

 Encouragement

 Totalizer

 the counter

 fan

 Pile light

 Control relay

 The pump

 Printer


13- Scada compare with plc in hindi

Industry, सुरक्षा और संचार के क्षेत्र में कठिन कामों को सरल बनाने के लिए plc का प्रयोग होता आ रहा है लेकिन कुछ जगहों पर ऐसा होता है कि वहां पर हम भी plc का प्रयोग नहीं कर सकते हैं तथा हमें data को सेव करने की भी आवश्यकता पड़ती है
जहां पर plc का प्रयोग नहीं कर सकते हैं वहां पर हमने scada प्रयोग करा जाता है तथा नीचे में अपने इस पोस्ट में स्काडा की डेफिनेशन लिख रहा हूं

14-What is plc scada in hindi


SCADA - यह एक  deta axibition, control and navigation प्रणाली है इसका उपयोग बहुत सेअनुप्रयोगों में किया जाता है जिसमें communication, industrial projects,cooling और इमारतों में heating भी शामिल हैं।

SCADA प्रणाली स्थानीय और दूरस्थ स्थानों में sensor से data को collect करती है और machines को नियंत्रित करने के लिए उन्हें computer में भेजती है।
अगर आपको स्काडा के बारे में और भी जानकारी चाहिए होगी तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं मैं अगली पोस्ट scada के ऊपर जरूर लिखूंगा 

15- advantages of plc


Very fast.
Easy to change logic
Easy maintenance
Low power consumption.
Able of handling of  complicated logic operations.
Plc is a affordable
PLC is Rugged

नोट- इन सभी advantege की बजह से plc applications बहुत ज्यादा है।

16- पीएलसी का चयन करते समय या खरीदते समय क्या ध्यान रखें - पीएलसी (plc) का चयन कैसे करें?


प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोल को चुनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु दिए गए हैं।


1 - यह देखना महत्वपूर्ण है कि यह plc हमारी आवश्यकता के अनुसार तेजी से चलाने में सक्षम होगी या नही।


2 - पीएलसी (plc) मेमोरी हमारे प्रोग्राम को चलाने में सक्षम है या नहीं।


3 - हम जिस सिस्टम को चलाना चाहते हैं वह एसी या डीसी वोल्टेज के साथ काम कर रहा है।


4 - हम अपने पीएलसी सिस्टम को कैसे संवाद करना चाहते हैं?


5 - हमारे सिस्टम ऑपरेशन के लिए, इनपुट आउटपुट (IO) को देखना आवश्यक है जो कि PLC में है।


6 - पीएलसी में आवश्यक अनुरूप इनपुट?  यह जाँच की जानी चाहिए कि इसे चलाने की पर्याप्त क्षमता है।

  

7- पीएलसी में प्रोग्राम बनाने के लिए किस प्रकार के सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है।


8 - यदि हम नेटवर्क कनेक्टिविटी चाहते हैं, तो इस सुविधा को पीएलसी नहीं, यह जांचना चाहिए।


17 - PLC programming 12 video lession



18- PLC in industry? Industries में plc का योगदान ?


इंडस्ट्री में PLC कुछ ही समय पहले आई है।  PLC के आने से पहले, companes के विद्युत पैनल में R.L.C (रिले लॉजिक सर्किट) का उपयोग किया था।

इसलिए मशीन में FAULT ढूंढना आसान नहीं था लेकिन PLC के आने के बाद मशीन में खराबी की संभावना कम हो जाती है और PLC में गलती खोजना बहुत आसान है


 क्योंकि PLC के ऊपर INPUT और OUTPUT इंडिकेशन एक लाइट SIGNAL है, जिससे हमें पता चलता है कि कौन सा INPUT SIGNAL नहीं plc तक नही आ रहा है और कौन सा OUTPUT SIGNAL plc से निकल नहीं रहा है।


इन्हें भी पढ़ें ⤵

19- Plc में गलती ढूंढना- Plc fault finding

प्रत्येक PLC controlled plant, के लिए, इसके दोषों का बड़ा प्रतिशत आमतौर पर actuators और सेंसर के साथ-साथ इसकी वायरिंग में होता है और PLC में नहीं।  PLC के अंदर दोष CPU के बजाय output input बिजली की supply या चैनलों में सबसे अधिक संभावना है।


Case 1


किसी भी output डिवाइस पर विचार करें जो LED output चालू करने में विफल रहता है।  यदि आप output PLC वोल्टेज का परीक्षण कर रहे हैं और यह सामान्यता को Indicated करता है, तो इसका दोष डिवाइस की गलती या वायरिंग गलती हो सकता है।  फिर, यदि आप डिवाइस के वोल्टेज की जांच करेंगे और नार्मल को Indicated होगा, तो इसका दोष डिवाइस पर है।


Case 2


आवश्यकता के अनुसार रोशन करने के लिए FED input की विफलता हो सकती है क्योंकि:

डिवाइस input यह ठीक से काम नहीं कर रहा है या

 Input डिवाइस ठीक से Operated नहीं है

 input मॉड्यूल या LED के लिए वायरिंग कनेक्शन Faulty है।


अधिकांश PLC self- testing प्रदान कर रहे हैं जो fault analysis के लिए हैं जो स्वयं-परीक्षण के साथ-साथ fault point प्रदर्शित करते हैं।  साथ में संक्षिप्त संदेश जो fault के स्रोतों और  recovery के संभावित तरीकों को देने के लिए सूची में कोड की तलाश के माध्यम से भी अनुवाद किया जा सकता है।


20- plc की full history


PLC का अविष्कार americi automotive निर्माण उद्योग की जरूरतों क़े जवाब में किया गया था। प्रोग्रैमेबल लाजिक कंट्रोलर शुरू में ऑटोमोटिव उद्योग द्वारा अपनाये गए थे, जहा शॉफ्टवेयर शंशोधन नें, उत्पाद माडल बदलनें पर, शख्त तारों क़े नियंत्रित पैनल की रीवाईरिंग को बदल दिया।


PLC शे पूर्व, ऑटोमोबाइल क़े निर्माण क़े लिए नियंत्रण, क्रम ओर शुरक्षा मिलान लाजिक शेकड़ों या हजारों रिलेज़, क़ेम टाइमर ओर ड्रम शिकवेशर एंव शमर्पित बंद लूप नियंत्रकों क़े इश्तेमाल शे पूरा किया जाता था। वार्षिक मॉडल बदलनें क़े लिए ऐशी शुविधाओं का अद्यतन करनें की प्रक्रिया में बहुत शमय ओर लागत लगती थी, क्यूंकि विद्युद्वेत्ताओं को व्यक्तिगत रूप शे प्रत्येक रिले को पुन:तार लगनी पड़ती थी।


1968 में, जी एम हाईड्रेमेटिक नें (जनरल मोटर्श की ऑटोमेटिक ट्रांशमिशन डिविजन) शख्त-तारों वाले रिले शिश्टम क़े लिए इलेक्ट्रोनिक बदलाव क़े प्रश्ताव क़े लिए एक अनुरोध जारी किया। जीतनें का प्रश्ताव बेडफोर्ड एशोशिएट्श ऑफ़ बेडफोर्ड, मैशाचुशेट्श शे आया।


पहली PLC, 084 निर्दिष्ट की गई, क्यूंकि यह बेडफोर्ड एशोशिएट्श की चोराशीवीं परियोजना का परिणाम था। बेडफोर्ड एशोशिएट्श नें विकाश, विनिर्माण, बिक्री ओर नये उत्पाद क़े लिए शमर्पित एक नई कम्पनी शुरू की: मेडिकॉन, जो मौड्यूलर डिजिटल नियंत्रक क़े लिए शंक्षेप था। परियोजना पर काम कर रहे लोगों में शे एक डिक मोरले थे,


जिन्हें PLC क़े पिता क़े रूप में जाना जाता हैंं। मेडिकॉन ब्रांड, 1977 में गोल्ड इलेक्ट्रॉनिक्श को बेच दिया गया, तथा बाद में जर्मन कंपनी AEG द्वारा अधिग्रहण किया गया ओर उशक़े बाद इशक़े मौजूदा मालिक फ्रेंच शनेंडर इलेक्ट्रोनिक द्वारा.


प्रारंभ में निर्मित 084 मॉडलों में शे एक अब नोर्थ एंडोवर, मैशाचुशेट्श में मेडिकॉन क़े मुख्यालय, में प्रदर्शन पर हैंं। जब युनिट लगभग बीश शाल की अबाध शेवा क़े बाद शेवा निवृत हुआ, तब यह जी एम द्वारा मेडिकॉन को दिया गया था। 984 क़े प्रकटन होनें तक, मेडिकॉन नें अपनें उत्पाद रेंज क़े अंत में 84 मोनिकर का उपयोग किया।


ऑटोमोटिव उद्योग अभी भी PLC क़े शबशे बड़े उपयोगकर्ताओं में शे एक हैंं।



plc programming in hindi


Final words (short answers)

Q1- पीएलसी परिभाषा या plc meaning kya hota hai?
Plc  एक प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोलर होता है जो एक डिजिटल कंप्यूटर की तरह कार्य करता है इसका प्रयोग इंडस्ट्रीज में बहुत ही ज्यादा होता है

[ Ecinhindi - 928289 ]

Q2-Plc programming language hindi mai

पीएलसी के प्रोग्रामिंग के लिए ladder language का प्रयोग करा जाता है तथा यह plc प्रोग्रामिंग के लिए सबसे ज्यादा यूज होने वाली language है।

Q3- Scada basics in hindi

आपने इस पोस्ट में जाना plc क्या होती है और यह कैसे काम करती है अगर आपको p.l.c. के कार्य करने के बारे में और जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं तथा आपने पीएलसी प्रोग्रामिंग डिवाइस (plc programming device) इसके बारे में भी जाना है इसके साथ ही आपने पीएलसी आउटपुट डिवाइस के बारे में जाना

Q4- plc कैसे काम करता है?
PLC (programmable logic controller) की कार्य विधि को समझना ज्यादा मुश्किल नहीं है PLC में इनपुट आउटपुट माड्यूल होते हैं input or output module PLC के अंदर स्थित CPU से जुड़े होते हैं

HMI फुल फॉर्म
(Human-Machine Interface) मानव यन्त्र अंतरापृष्ठ

SCADA full form
Supervisory control and Data acquisition


Plc full form in                  education,electrical,real estate

इन सब में पीएचडी की फुल फॉर्म एक ही होती है प्रोग्रामेबल लॉजिक कंट्रोलर (programmable logic controller)

CPU इनपुट माड्यूल से आए सिग्नल को प्रोसेस करके आउटपुट माड्यूल पर आउटपुट देता है PLC  का input module signal Mouse, temperature sensors ,push buttons,limit switches से लेता है तथा output किसी motor या किसी और मशीन को देता है।

PLC जोकि एक digital computer ही है। इसको काम करने के लये programme की जरूरत होती है। और इसका programme ladder language मे लिखा जाता है।
इस programme को computer मे लिख कर cable द्बारा plc मे डाल दिया जाता है और यह plc की non volatile memory मे save हो जाता है।


एक plc उसमे डालें गए programe के आधार पर संचालित होता है।  हम अपनी आवश्यकताओं के अनुसार कंप्यूटर प्रोग्राम विकसित करते हैं।  जिसे केबल के जरिए पीएलसी पर अपलोड किया जाता है। जिसे पीएलसी की मेमोरी में स्टोर किया जाता है।

पीएलसी के लिए विकसित program को ladder diagram भी कहा जाता है।  प्रत्येक पीएलसी में मेमोरी की एक अलग श्रेणी होती है। एक तरह से, यह पीएलसी की क्षमता है।  हम मेमोरी का चयन करते हैं कि हम पीएलसी में कितना i/o का उपयोग करते हैं।


किसी भी plc में दो मॉड्यूल होते हैं।  एक इनपुट और एक आउटपुट। इनपुट मॉड्यूल parameters का इनपुट लेता है।  आउटपुट मॉड्यूल इनपुट मापदंडों और program के आधार पर एक मशीन या मोटर संचालित करता है।  सीपीयू इनपुट और आउटपुट के बीच संबंध। जो एक ओर डेटा एकत्र करता है और दूसरी ओर संकेत करता है।

जल्द ही हम यह पर PLC PDF upload कर देंगे।
PLC full form in Electrical education,SCADA full form, टीएलसी क्या है ,प्रोग्रामिंग क्या है
plc ka matlab kya hai hindi mein bataen 

आशा करता हू हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट plc in hindi आपके लिए बहुत काम आएगी

अगर हमारी यह पोस्ट what is PLC in hindi ,plc ka full form kya hota hai आपके काम आती है तो कृपया आप शेयर करें तथा कमेंट जरूर करें आपकी कमेंट के आधार पर मैं आगे और नई पोस्ट लिखता हूं

आप वैसे भी एक अच्छी नौकरी ले सकते हैं, यदि आप हमारे ब्लॉग को नियमित रूप से पढ़ते हैं, तो आपको अच्छी नौकरी मिलेगी क्योंकि मैंने अपने ब्लॉग पर वह बात रखी है जो एक तकनीकी साक्षात्कार में पूछी जाती है। पीएलसी एजुकेशन

मैं इस जानकारी को अच्छी तरह से दर्ज कर सकता हूं क्योंकि मैं खुद कंपनी में एक जूनियर मेंटेनेंस इंजीनियर हूं और PLC में नियमित रूप से काम करता रहता हूं।



post अच्छी लगे तो please share करे।
Plc क्या होती है? इसके काम | प्रकार | फुल फॉर्म | basic programming Plc क्या होती है? इसके काम | प्रकार | फुल फॉर्म | basic programming Reviewed by Rajeev Saini on January 21, 2018 Rating: 5

9 comments:

Thanks you for comment

Powered by Blogger.